वीकेंड ट्रेडिंग एक अच्छा विचार हो सकता है

Ritul Jewels Pvt. Ltd.(RJPL SPOT) is a leading company in India which deals in bullion, specializing in bars, coins & Ornaments of various precious metals like Gold & Silver. Read More .

Contact Us

--> RJPL SPOT 19/A, Sanjana Building, 2nd Floor, 2nd Agairy Lane, Zaveri Bazar, Mumbai - 400002 022-49098104 | 022-33403555 | 022-61833339 +91-8942277566 +91-8942277566 --> [email protected] +91-8942277566 +91-8942277566 --> 10:00 a.m - 10:00 p.m +91-8942277566 +91-8942277566

Super 30 Box Office: ऋतिक रोशन की 'सुपर 30' की कमाई में आया भारी उछाल, इस वीकेंड में कमाए इतने करोड़

ऋतिक रोशन (Hrithik Roshan) और मृणाल ठाकुर (Mrunal Thakur) स्टारर फिल्म सुपर 30 (Super 30) को रिलीज हुए एक सप्ताह पूरा हो चुका है। सुपर 30 की साप्ताहिक कमाई की लिस्ट सामने आई है। ऋतिक रोशन की.

Super 30 Box Office: ऋतिक रोशन की 'सुपर 30' की कमाई में आया भारी उछाल, इस वीकेंड में कमाए इतने करोड़

ऋतिक रोशन (Hrithik Roshan) और मृणाल ठाकुर (Mrunal Thakur) स्टारर फिल्म सुपर 30 (Super 30) को रिलीज हुए एक सप्ताह पूरा हो चुका है। सुपर 30 की साप्ताहिक कमाई की लिस्ट सामने आई है। ऋतिक रोशन की फिल्म ने बीते रविवार को यानि फिल्म के दसवें दिन अच्छी कमाई की है। फिल्म ने इस वीक अपने रफ्तार बढ़ाते हुए 10वें दिन 10 करोड़ की कमाई की है।

खबरों की मानें तो फिल्म सुपर 30 का यह रफ्तार रहा तो इस सप्ताह 100 करोड़ के क्लब में शामिल हो सकती है। आपको बता दें कि बीते दिन शुक्रवार को जहां फिल्म 4.51 करोड़ रुपये का आंकड़ा दर्ज करा पाई थी तो वहीं, शनिवार को फिल्म बेहतरीन कमाई का आंकड़ा दर्ज कराते है कुल 8.53 करोड़ रुपये की रकम हासिल की थी। बॉक्स ऑफिस इंडिया डॉट कॉम के मुताबिक विकास बहल द्वारा निर्देशित फिल्म 'सुपर 30 (Super 30)' ने रविवार को करीब 10.50 करोड़ रुपये की कमाई की। इसी के साथ रविवार की कमाई के साथ फिल्म की कुल कलेक्शन 99 करोड़ रुपये हो गया है। आपको बता दें कि ट्रेड एक्सपर्ट्स की तरण आर्दन ने अनुमान लगाया था कि फिल्म रविवार को 100 करोड़ रुपये का आंकड़ा हासिल कर लेगी।

फिल्म गॉडफादर के हिंदी वर्जन ने कमाए इतने करोड़, वर्ल्ड वाइड कलेक्शन सुन उड़ जाएंगे होश

Godfather

साउथ सिनेमा के सुपरस्टार चिरंजीवी और बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान की मूवी ” गॉडफादर ” बॉक्स ऑफिस पर कमाल कर रही है। चिरंजीवी जहां इस फिल्म से कमबैक कर रहे हैं तो वहीं सलमान भी इस फिल्म में नजर आ रहे हैं। सलमान और चिरंजीवी की जोड़ी बॉक्स ऑफिस पर कमाल कर रही है और रिलीज होने के बाद फिल्म अच्छी कमाई कर रही है तेलुगु भाषा के साथ साथ ही फिल्म हिंदी वर्जन में भी अच्छा प्रदर्शन कर रही है।

फिल्म की अब तक की कमाई को लेकर जानकारी सामने आई है। सोमवार को गॉडफादर के फर्स्ट वीकेंड पर बॉक्स ऑफिस कलेक्शन को लेकर जो रिपोर्ट सामने आई है उसे देखकर बिल्कुल कहा जा सकता है कि फिल्म कमाल कर रही है। दरअसल ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श ने अपने ऑफिशल इंस्टाग्राम हैंडल पर गॉडफादर के फर्स्ट वीकेंड में बॉक्स ऑफिस कलेक्शन की जानकारी पेश की है।

उनके मुताबिक रिलीज के पहले विकेट पर फिल्म के हिंदी वर्जन ने 6.5 करोड़ रुपए की कमाई की है। किसी भी साउथ फिल्म के लिए हिंदी वर्जन में इतनी कमाई काफी शानदार माना जानी जाती है। कहा जा रहा है कि गॉडफादर को लंबे विकेट काफी फायदा मिला है क्योंकि 5 अक्टूबर की रिलीज की वजह से गॉडफादर का फर्स्ट विकेट 5 दिनों का रहा। चिरंजीवी की फिल्म गॉडफादर लोगों को पसंद आ रही है।

यह फिल्म दर्शकों को थिएटर तक खींच ला पाने में भी सफल हो रही है और एक तरह से कहा जा सकता है कि चिरंजीवी और सलमान की जोड़ी ने कमाल कर दिया है। रिपोर्ट की माने तो इस फिल्म ने वर्ल्ड वाइड 100 करोड रुपये से भी अधिक का आंकड़ा पार कर लिया है। फिल्म लोगों को पसंद आ रही है और लोग इसे देखने के लिए पहुंच रहे हैं।

लॉकडाउन के बाद सबसे अच्छा व्यापार (बिज़नेस) | After Lockdown Business Ideas in Hindi

कोरोनावायरस को नियंत्रण में लाने में सबसे ज्यादा योगदान लॉकडाउन का ही रहा है. यदि देश में सही समय पर लॉकडाउन नहीं लगाया जाता तो शायद आज देश की हालत कुछ और ही होती. इस बीच बहुत से निवेशक ऐसे थे जो काफी सारे व्यवसायो में निवेश करने की सोच रहे थे, परंतु लॉकडाउन की वजह से उनके सारे सपने धरे के धरे रह गए. परंतु अब फिर से देश विकास की पटरी पर आता हुआ दिखाई दे रहा है क्योंकि लॉकडाउन खत्म होने की कगार पर है, इसलिए परिस्थितियां संभलते हुए दिख रही हैं. इसी के चलते कुछ वीकेंड ट्रेडिंग एक अच्छा विचार हो सकता है निवेशक नए व्यवसाय में अच्छा मुनाफा कमाने की चाह रख रहे हैं, तो ऐसे ही उनके लिए कुछ कमाल के बिजनेस आइडियाज यहां पर बताये जा रहे हैं, जिन्हें वे आसानी से लॉक डाउन खत्म होते ही प्रारंभ कर सकते हैं.

after lockdown business

कम पढ़े लिखे लोगों के लिए कौन से व्यवसाय दे सकते हैं अच्छी आमदनी जानने के लिए यहां क्लिक करें.

लॉकडाउन के बाद वाले बिजनेस आइडियाज (After Lockdown Business Ideas)

Table of Contents

लॉकडाउन के बाद निम्नलिखित व्यवसाय आपको ज्यादा मुनाफा दे सकते हैं –

हेल्थ से संबंधित प्रोडक्ट बनाने एवं बेचने का व्यवसाय :-

स्वास्थ्य का सही महत्व तो आज के समय में कोरोनावायरस ने ही इंसान को समझाया है. ऐसे में हर कोई अपने स्वास्थ्य को लेकर बहुत ज्यादा फिक्र मंद रहते हैं. ऐसे में यदि आप हेल्थ से संबंधित प्रोडक्ट के मैन्युफैक्चरिंग और ट्रेनिंग का व्यवसाय प्रारंभ करना चाहते हैं तो आप आसानी से मस्क मैन्युफैक्चरिंग का व्यवसाय, हैंड सैनिटाइजर बनाने का व्यवसाय, या फिर पीपीई किट मैन्युफैक्चरिंग का व्यवसाय प्रारंभ कर सकते हैं. यह सभी व्यवसाय आने वाले समय में बहुत ज्यादा प्रॉफिट वाले व्यवसाय बन सकते हैं और देखा जाए तो आज के समय में भी काफी ज्यादा प्रॉफिट कमाने वाले व्यवसाय स्वास्थ्य संबंधित प्रोडक्ट से जुड़े हुए हैं.

एंटीबैक्टीरियल फैब्रिक का व्यवसाय :-

अभी तो हम सिर्फ एक छोटे से मास्क की बात कर रहे वीकेंड ट्रेडिंग एक अच्छा विचार हो सकता है थे जो आपके मुंह को ही सुरक्षा प्रदान करेगा. अब हम आपको एक ऐसे एंटीबैक्टीरियल फैब्रिक के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके यदि आप कपड़े बनाकर पहनते हैं तो आप अपनी पूरी बॉडी को वायरस के खतरे से मुक्त कर सकते हैं. जी वीकेंड ट्रेडिंग एक अच्छा विचार हो सकता है हां इसराइल के देश में स्टार्टअप सोनोविया नामक एक कंपनी ने कुछ इसी प्रकार के कपड़े का निर्माण किया है. आपको वीकेंड ट्रेडिंग एक अच्छा विचार हो सकता है जानकर हैरानी होगी कि इस कंपनी ने इजराइल देश में लगभग 1.2 लाख मास्क इसी फैब्रिक के बनाए और लोगों के बीच बांट भी दिए. सबसे हैरानी की बात तो यह है कि यह मास्क काफी लंबी अवधि तक चलाया जा सकता है और लगातार धोकर इसको इस्तेमाल किया जा सकता है. आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं कि यदि आप इस फैब्रिक को बेचने का व्यवसाय प्रारंभ करते हैं, तो आप कितना अच्छा लाभ कमा सकते हैं.

रिटायरमेंट के बाद खाली वक्त में बैठ कर इन व्यवसाय को करने से मिलता है अधिक मुनाफा, जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें.

कार वाशिंग और सैनिटाइज का व्यवसाय :-

कोरोनावायरस के खतरे को आज सभी लोग बहुत अच्छे तरीके से जान चुके हैं. हालांकि धीरे-धीरे जिंदगी की गाड़ी वापस पटरी पर आने लगी वीकेंड ट्रेडिंग एक अच्छा विचार हो सकता है है जिसके चलते लोगों ने घरों से निकलना भी शुरू कर दिया है. परंतु आज भी कोरोनावायरस का खतरा अपने खुद के वाहनों को हाथ लगाते हुए भी महसूस होता है. ऐसे में लोग अपने वाहन कार आदि को खुद से हाथ लगाने के बदले वॉशिंग और सैनिटाइजिंग कंपनी को अपनी कार की साफ सफाई का काम सौंप देते हैं. तो भविष्य में यदि आप कार वॉशिंग और सैनिटाइजिंग का काम शुरू करना चाहते हैं तो आपके लिए यह बहुत अच्छा समय है.

ऊपर बताए गए हमारे लेख के माध्यम से लॉकडाउन के खत्म होने के बाद कुछ नए व्यवसाय को प्रारंभ करने की योजना आप तुरंत तैयार कर सकते हैं. उस योजना को तैयार करने के बाद आप अपने वर्तमान और भविष्य दोनों को ही एक नई राह प्रदान कर सकते हैं.वीकेंड ट्रेडिंग एक अच्छा विचार हो सकता है वीकेंड ट्रेडिंग एक अच्छा विचार हो सकता है

FAQ

Ans : लॉकडाउन खत्म होने के बाद यदि आप अधिक मुनाफा कमाना चाहते हैं तो मेडिकल क्षेत्र से जुड़े व्यवसाय जैसे सैनिटाइजर, मास्क, हैंड ग्लव्स आदि बनाने का काम आरंभ कर सकते हैं.

Ans : साल 2020 में यदि आप ज्यादा निवेश नहीं करना चाहते हैं तो कम निवेश में भी आप मास्क बनाने का व्यवसाय, सैनिटाइजर बनाने का व्यवसाय, पेपर नैपकिन बनाने का व्यवसाय या फिर सिरमिक टाइल्स बनाने का व्यवसाय प्रारंभ कर सकते हैं.

Ans : लॉकडाउन के दौरान कुछ ऐसे व्यवसाय हैं जो अच्छा प्रॉफिट कमाने वाले व्यवसाय साबित हो सकते हैं जिनमें से मेडिकल क्षेत्र के व्यवसाय, टेक्सटाइल क्षेत्र के व्यवसाय, और घर पर मास्क बनाने जैसा व्यवसाय आदि.

Ans : आज के समय में लोग आत्मनिर्भर हो गए हैं ऐसे में घर पर रहकर किसी भी प्रकार के हेल्थ केयर प्रोडक्ट का निर्माण और उसकी ट्रेडिंग करना बेहद सरल है.

Ans : सरकार द्वारा दिए जाने वाले मुद्रा लोन की सहायता से.

सस्ता हो जाएगा पेट्रोल-डीजल, इन 4 तरीकों से मोदी सरकार दे सकती है राहत

पेट्रोल-डीजल सस्ता हो रहा है. लगातार इसके दाम में कटौती हो रही है. लेकिन, यह कटौती मामूली है.

  • पेट्रोल-डीजल को सस्ता करने पर सरकार ले सकती है फैसला
  • पेट्रोल-डीजल को लेकर लंबी अवधि का विकल्प तलाश रही सरकार
  • 4 विकल्पों से सरकार आम आदमी को बड़ी राहत दे सकती है

alt

5

alt

5

alt

5

alt

5

सस्ता हो जाएगा पेट्रोल-डीजल, इन 4 तरीकों से मोदी सरकार दे सकती है राहत

नई दिल्ली: पेट्रोल-डीजल सस्ता हो रहा है. लगातार इसके दाम में कटौती हो रही है. लेकिन, यह कटौती मामूली है. क्योंकि, पिछले एक महीने में पेट्रोल-डीजल 4 रुपए तक महंगा हुआ था और कटौती के नाम पर सिर्फ 60 पैसे की कटौती हुई है. दाम बढ़ने से देशभर में मची हाय-तौबा के बाद सरकार ने इस पर लगाम लगाने के विकल्प तलाशने शुरू किए. हालांकि, इस पर एक्साइज ड्यूटी घटाने से इनकार कर दिया. सरकार अब लंबी अवधि के लिए पेट्रोल-डीजल की कीमतों को स्थिर बनाने की योजना पर काम कर रही है. आम आदमी को बड़ी राहत देने के लिए सरकार के पास विकल्प हैं. लेकिन, अभी यह तय नहीं है कि कौन से विकल्प को सरकार अपनाएगी.

PM मोदी देंगे राहत
देश भर की जनता और विपक्ष की आलोचना के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पेट्रोलियम मंत्रालय के साथ बैठक की. चर्चा है कि इस बैठक में पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लॉन्ग टर्म में कम करने को लेकर कुछ विकल्प पर चर्चा हुई. हालांकि, इनमें से किस विकल्प को सरकार चुनेगी यह अभी कहा नहीं जा सकता है. विकल्प कोई भी हो, अंतिम फैसला PMO को लेना है. वित्त मंत्रालय ने भी वीकेंड ट्रेडिंग एक अच्छा विचार हो सकता है वीकेंड ट्रेडिंग एक अच्छा विचार हो सकता है इस पर अपना सुझाव दिया है. वहीं, पेट्रोलियम मंत्री बार-बार इसे जीएसटी के दायरे में लाने की बात कर चुके हैं.

पहला विकल्प GST
लंबे समय से मांग की जा रही है कि पेट्रोलियम प्रोडक्ट को जीएसटी यानी गुड्स एंड सर्विस टैक्स के दायरे में लाया जाए. ट्रेड एसोसिएशन से लेकर तेल मंत्रालय तक इसकी सिफारिश कर चुका है. लेकिन, सरकार की ओर से अब तक इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा था कि पेट्रोलियम प्रोडक्ट को जीएसटी में लाने के लिए कुछ राज्य राजी नहीं हैं. पिछले हफ्ते हुई एक बैठक में भी राज्यों ने पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने पर सहमति नहीं दी. हालांकि, इस बीच पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कीमतों में कमी के लिए वैकल्पिक तरीके तलाशने को लेकर कंपनियों से बात की है. पेट्रोल और डीजल की रिटेल कीमत में तकरीबन आधा हिस्सा टैक्स का है. ऐसे में अगर इसे जीएसटी में लाया जाएगा तो इसकी कीमतों में बड़ी कटौती हो सकती है.

दूसरा विकल्प विंडफॉल टैक्स
कच्चे तेल की कीमतें बढ़ने पर तेल कंपनियों को अच्छा खास मुनाफा होता है. दरअसल, देश में कुल 20 फीसदी क्रूड ऑयल की सप्लाई करने वाली ओएनजीसी को क्रूड की कीमतों में उछाल से विंडफॉल गेन हुआ. ऐसे में सरकार के पास ऑप्शन है कि वह कंपनी से कम दाम पर रिटेलर्स को तेल बेचने के लिए कह सके. हालांकि, इससे कंपनी के मार्जिन पर असर पड़ सकता है. लेकिन, सरकार इसके बदले कंपनी से कम लाभांश लेने पर विचार कर सकती है. ऐसे में सरकार तेल कंपनी पर विंडफॉल टैक्स लगा सकती है, जिससे क्रूड की कीमतों पर एक तय सीमा के बेचने पर टैक्स चुकाना होगा.

तीसरा विकल्प फ्यूचर ट्रेडिंग
भारतीय कमोडिटी एक्सचेंज में पेट्रोल-डीजल के फ्यूचर लॉन्च करने को पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान मंजूरी दे चुके हैं. हालांकि, अभी सेबी की मंजूरी मिलना बाकी है. अगर सेबी की मंजूरी मिल जाती है तो पेट्रोल-डीजल फ्यूचर लॉन्च किया जा सकता है. पेट्रोलियम फ्यूचर लॉन्च होने पर पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बड़ी कटौती देखने को मिल सकती है. कमोडिटी एक्सचेंज ने भी इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है. हालांकि, सेबी से मंजूरी कब तक मिलेगी अभी कहा नहीं जा सकता.

चौथा विकल्प कच्चे तेल में छूट
पेट्रोलियम निर्यात करने वाले देशों का संगठन ओपेक, पश्चिमी देशों के खरीदारों के मुकाबले भारत को ऊंची दर पर तेल बेचता है. एशियाई देशों में इसे एशियन प्रीमियम कहा जाता है. मोदी सरकार दूसरे निर्यातक देशों (नॉन ओपेक देश) से क्रूड खरीदने पर विचार कर रही है. उम्मीद है कि दूसरे देशों से उसे सस्ते में कच्चा तेल मिल सकता है. वहीं, कच्चे तेल की कीमतों में करेक्शन से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती होगी. सस्ता कच्चा तेल मिलने से सरकार पेट्रोल-डीजल की कीमतों को कम कर सकती है. तेल की कीमतों में गिरावट की वजह से सरकार ने सिर्फ एक साल वित्त वर्ष 2016-17 में 2.7 लाख करोड़ रुपए टैक्स के जरिए जुटाया था.

रेटिंग: 4.49
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 139