विदेशी मुद्रा भंडार के मामले में भारत विश्व का चौथा सबसे दुनिया का सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा बाजार कौन सा है बड़ा देश बना, रूस को पछाड़ा

भारत रूस को पीछे छोड़ते हुए विदेशी मुद्रा भंडार के मामले में विश्व में चौथे पायदान पर आ गया है. यह भंडार लगभग 18 महीनों के आयात को कवर करने के दुनिया का सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा बाजार कौन सा है लिए काफी है. 5 मार्च तक भारत की विदेशी मुद्रा भंडार 580.3 बिलियन डॉलर हो गई है.

By: एबीपी न्यूज़ | Updated at : 15 Mar 2021 03:07 PM (IST)

नई दिल्लीः भारत ने रूस दुनिया का सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा बाजार कौन सा है को पीछे छोड़ते हुए विदेशी मुद्रा भंडार के मामले में दुनिया का चौथा सबसे बड़ा देश बन गया है. दक्षिण एशियाई राष्ट्र के केंद्रीय बैंक ने अर्थव्यवस्था को अचानक होने वाले किसी भी नुकसान से बचाने के लिए डॉलर जमा करना जारी रखा है. हालांकि दोनों देशों के विदेशी मुद्रा भंडार में कुछ महीनों की वृद्धि के बाद इस साल ज्यादातर गिरावट दर्ज हुआ है। हाल के सप्ताहों में रूस के विदेशी मुद्रा भंडार में तेजी से गिरावट आने के बाद भारत उससे आगे निकल गया.

5 मार्च तक भारत की विदेशी मुद्रा भंडार 580.3 बिलियन डॉलर हो गई. भारतीय रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को कहा कि रूस के पास 580.1 बिलियन का विदेशी मुद्रा भंडार है. वहीं, चीन के पास सबसे बड़ा भंडार है, जिसके बाद जापान और स्विटजरलैंड अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की मेज पर हैं. भारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगभग 18 महीनों के आयात को कवर कर सकता है.

विश्लेषकों का कहना है कि विदेशी मुद्रा भंडार की मजबूत स्थिति विदेशी निवेशकों और क्रेडिट रेटिंग कंपनियों को यह दिलासा देती है कि सरकार बिगड़ते राजकोषीय घाटे और चार दशक में पहली बार इतनी संकुचित हुई अर्थव्यवस्था के बावजूद अपने ऋण दायित्वों को पूरा कर सकती है. ड्यूक बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री कौशिक दास ने कहा, "भारत के विभिन्न भंडार में पिछले कुछ वर्षों में काफी सुधार हुआ है. आगे की अवधि में किसी भी संभावित बाहरी सदमे से निपटने में आरबीआई को विदेशी मुद्रा भंडार से काफी मदद मिलेगी."

आरबीआई पिछले साल फॉरेक्स मार्केट से 88 बिलियन डॉलर लाया था. इसने पिछले साल एशिया की प्रमुख मुद्राओं के बीच रुपए की सबसे खराब प्रदर्शन को रोकने में मदद की और भारत को अमेरिकी ट्रेजरी वॉचलिस्ट पर जगह दी. सोमवार को रुपया 0.1 फीसदी मजबूत होकर 72.71 प्रति डॉलर पर पहुंच गया. हाल ही में आई आरबीआई की दुनिया का सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा बाजार कौन सा है एक रिपोर्ट में विदेशी मुद्रा भंडार को और मजबूत करने की सिफारिश की गई है. गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा है कि उभरते बाजार को देखते हुए केंद्रीय बैंकों को किसी भी बाहरी झटके से रोकने के लिए विदेशी मुद्रा भंडार और बढ़ाने की जरूरत है.

News Reels

यह भी दुनिया का सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा बाजार कौन सा है पढ़ें-

Published at : 15 Mar 2021 03:07 PM (IST) Tags: foreign exchange reserves Indian Economy हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

Forex Reserve: भारत के पास है विश्‍व दुनिया का सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा बाजार कौन सा है का चौथा सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा भंडार, जानिए पहले और दूसरे स्‍थान दुनिया का सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा बाजार कौन सा है पर हैं कौन-कौन से देश

India has the world

विदेशी मुद्रा भंडार के मामले में दुनियाभर में सबसे आगे चीन है। इस मोर्चे पर 1404 अरब डालर से कुछ अधिक रकम के साथ जापान दूसरे तथा 1077 अरब डालर (सितंबर के आंकड़ों के हिसाब से) के साथ स्विट्जरलैंड तीसरे स्थान पर हैं।

नई दिल्ली, पीटीआइ। वर्तमान में भारत के पास दुनिया का चौथा सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा भंडार है। सोमवार को लोकसभा में वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने कहा कि 19 नवंबर, 2021 तक देश का विदेशी मुद्रा भंडार 640.4 अरब डालर था। एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पिछले सात वर्षो के दौरान एक्साइज शुल्क (सेस भी शामिल) के तहत 16.7 लाख करोड़ रुपये एकत्र किए गए हैं। गैर-ब्रांडेड वाले पेट्रोल पर वर्ष 2013-14 में एक्साइज ड्यूटी 9.2 रुपये प्रति लीटर थी जबकि गैर-ब्रांडेड वाले डीजल पर 3.46 रुपये प्रति लीटर थी। वर्तमान में पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 27.9 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 21.80 रुपये प्रति लीटर है। विदेशी मुद्रा भंडार के मामले में दुनियाभर में सबसे आगे चीन है, जिसके पास इस वर्ष अक्टूबर में 3,392 अरब डालर का भंडार बताया जा रहा था। इस मोर्चे पर 1,404 अरब डालर से कुछ अधिक रकम के साथ जापान दूसरे तथा 1,077 अरब डालर (सितंबर के आंकड़ों के हिसाब से) के साथ स्विट्जरलैंड तीसरे स्थान पर हैं।

FM says govt will work to further bring down inflation

देश में कोयले की कमी नहीं : कोयला मंत्री

इस बीच, कोयला मंत्री प्रल्हाद जोशी ने कहा है कि देश में कोयले की कोई कमी नहीं है। राज्यसभा में एक सवाल का जवाब देते हुए जोशी ने कहा कि भारी बारिश, बिजली की बढ़ती मांग के चलते बिजली संयंत्रों में कोयले का भंडार कम हो गया था। इस साल आठ अक्टूबर तक संयंत्रों में कोयले का स्टाक 72 लाख टन (चार दिनों का स्टाक) तक पहुंच गया था। हालांकि इसके बाद कोयले की आपूर्ति बढ़ी और 29 नवंबर को स्टाक 1.7 करोड़ टन (नौ दिनों के लिए पर्याप्त) पहुंच गया। पिछले साल की तुलना में कोल इंडिया ने इस साल अप्रैल से अक्टूबर के दौरान 5.4 करोड़ टन ज्यादा कोयला भेजा है। कोयले से चलने वाले बिजली संयंत्रों की बात करें तो अप्रैल से अक्टूबर के दौरान 594.34 अरब यूनिट दुनिया का सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा बाजार कौन सा है बिजली का उत्पादन हुआ। जबकि पिछले साल यह आंकड़ा 511.46 अरब यूनिट था।

IDBI Bank Bid Submission Deadline Extended Till 7 January 2022

55 प्रतिशत से ज्यादा जन धन खाते महिलाओं के नाम

देश में 44 करोड़ जन धन खाते हैं, जिनमें से 55 प्रतिशत से अधिक (24.42 करोड़) अकाउंट महिलाओं के नाम हैं। यह जानकारी वित्त राज्य मंत्री भागवत किशन कराड ने लोकसभा में दी। सुकन्या समृद्धि योजना के खाते खोले जाने संबंधी एक अन्य सवाल के जवाब में वित्त राज्यमंत्री दुनिया का सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा बाजार कौन सा है पंकज चौधरी ने बताया कि पहली अप्रैल, 2018 से 31 अक्टूबर, 2021 तक 1,42,73,910 खाते खोले गए। उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाते खोले गए।

India WPI Data November 2022 decreased to 5.85 Percent

144 दुनिया का सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा बाजार कौन सा है केंद्रीय परियोजनाओं की लागत 14,960 रुपये बढ़ी

इन्फ्रास्ट्रक्चर से जुड़ी 144 केंद्रीय परियोजनाएं समय से पूरी होती नहीं दिख रही हैं। खास बात यह है कि समय से पूरा नहीं होने के चलते इनकी लागत 14,960.02 करोड़ रुपये बढ़ गई है। सांख्यिकी मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने संसद में बताया कि इन परियोजनाओं की शुरुआती लागत 1,67,493.82 करोड़ रुपये थी जो अब बढ़कर 1,82,453.84 करोड़ रुपये हो गई है।

80 Indian Startups Can issue IPO In Coming Next 5 Years

हेल्थ इंश्योरेंस के प्रीमियम पर जीएसटी घटाने का इरादा दुनिया का सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा बाजार कौन सा है नहीं

वित्त राज्यमंत्री भागवत किशन कराड ने सोमवार को लोकसभा में कहा कि सरकार का हेल्थ इंश्योरेंस के प्रीमियम पर जीएसटी घटाने का कोई इरादा नहीं है। उन्होंने कहा कि जीएसटी का फैसला काउंसिल करती है और यह एक संवैधानिक संस्था है। वर्तमान समय में उसकी तरफ से इस तरह की कोई सिफारिश नहीं की गई है।

देशभर में एटीएम की संख्या 2.13 लाख से ज्यादा

इस साल सितंबर तक देशभर में एटीएम की संख्या 2.13 लाख से ज्यादा थी। 47 प्रतिशत से ज्यादा एटीएम ग्रामीण दुनिया का सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा बाजार कौन सा है और अ‌र्द्ध शहरी इलाकों में थे। वित्त राज्यमंत्री भागवत किशन कराड ने यह जानकारी लोकसभा में दी।

174 Chinese companies registered in the country, Know Details

19,564 करोड़ रुपये रहा विमानन कंपनियों का घाटा

पिछले वित्त वर्ष के दौरान भारत में विमानन कंपनियों और एयरपोर्ट को क्रमश: 19,564 करोड़ और 5,116 करोड़ रुपये अनुमानित नुकसान हुआ है। यह जानकारी नागरिक विमानन राज्यमंत्री वीके सिंह ने सोमवार को राज्यसभा में दी।

रेटिंग: 4.92
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 679