शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) पूंजी बाजार में शुद्ध बिकवाल रहे। उन्होंने मंगलवार को 221.32 करोड़ रुपये के शेयर बेचे।

पश्चिम बंगाल: 49 लाख की विदेशी मुद्रा के साथ बांग्लादेशी ट्रक ड्राइवर गिरफ्तार, भारत से बांग्लादेश पहुंचाना था पैसा

पश्चिम बंगाल: 49 लाख की विदेशी मुद्रा के साथ बांग्लादेशी ट्रक ड्राइवर गिरफ्तार, भारत से बांग्लादेश पहुंचाना था पैसा

रविवार को SSB ने उत्तर 24 परगना जिले में एक बांग्लादेशी (Bangladesh) ट्रक ड्राइवर भारी मात्रा में विदेशी मुद्रा के साथ गिरफ्तार किया है. रविवार को दोपहर डेढ़ विदेशी मुद्रा पैसे पश्चिम बंगाल बजे के करीब दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के तहत, आईसीपी पेट्रापोल, 179 वीं वाहिनी के जवानों ने विश्वसनीय खबर के आधार पर एक बांग्लादेशी ट्रक चालक को रंगे हाथ पकड़ा, जिसके पास भारी मात्रा में विदेशी मुद्रा थी.

जब वह एक बांग्लादेशी ट्रक के पास खड़ा था, बीएसएफ के जवानों ने उसे कार्गो कॉम्प्लेक्स, आईसीपी पेट्रापोल के आयात पार्किंग क्षेत्र में रोका. जब उसकी तलाशी ली तो उसकी पतलून की जेब में भूरे रंग के टेप में लिपटे तीन पैकेट छिपे हुए मिले. भागने से रोकने के लिए उसे तुरंत हिरासत में ले लिया गया. पूछताछ करने पर उसने बताया कि वह बांग्लादेश का ट्रक ड्राइवर है. बीएसएफ के राजपत्रित अधिकारी, कंपनी कमांडर और अन्य लोगों की मौजूदगी में व्यक्ति के साथ-साथ ट्रक की तलाशी ली गई. वहीं 3 भूरे रंग के पैकेट खोलने पर, 20,000 विदेशी मुद्रा पैसे पश्चिम बंगाल कनाडाई डॉलर और 30,000 अमेरिकी डॉलर की विदेशी मुद्रा बरामद की गई. साथ ही उसके पास से 2,600 बांग्लादेशी टका और एक मोबाइल फोन भी बरामद किया गया है. जब्त की गई विदेशी मुद्रा और ट्रक की कुल कीमत 49,16,763 रुपए आंकी गई.

भारतीय नागरिक ने दिए थे पैसे

पकड़े गए ट्रक चालक से पूछताछ करने पर उसने अपनी पहचान रफीकुल इस्लाम (44), पुत्र स्वर्गीय सोयद सरदार, ग्राम मोलिकपुर, झिकरगाचा, जिला जशोर, बांग्लादेश के रूप में बताई. उसने आगे खुलासा किया कि वह एक बांग्लादेशी नागरिक है और वह एक ट्रक चालक के रूप में काम करता है और नियमित रूप से निर्यात सामान लेकर पेट्रापोल (भारत) आता है.

उसने खुलासा किया कि आज वह सुबह 9.45 बजे बांग्लादेश से आईसीपी पेट्रापोल निर्यात सामान (केमिकल) लेकर आया था. उसने आगे खुलासा किया कि लगभग डेढ़ बजे, आयात पार्किंग क्षेत्र के अंदर एक भारतीय नागरिक ने उसे तीन पैकेट दिए थे जो बेनापोल में सजल नाम के एक बांग्लादेशी नागरिक को दिए जाने थे. इस काम के लिए उसे 500 बांग्लादेशी टका मिलना था.

वहीं, बीएसएफ ने सूत्रो के जरिए बांग्लादेशी ड्राइवर को विदेशी मुद्रा सौंपने वाले भारतीय नागरिक की पहचान कर ली है. वह आईसीपी परिसर तक पहुंचने के लिए एक क्लियरिंग एजेंट है. उसे पेट्रापोल क्लियरिंग एजेंट स्टाफ वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा पहचान पत्र जारी किया गया है. गिरफ्तार ट्रक चालक को जब्त सामग्री के साथ आगे की कानूनी कार्यवाही के लिए सीमा शुल्क कार्यालय पेट्रापोल को सौंप दिया गया है.

विदेशी मुद्रा बहिर्वाह पर अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 35 पैसे गिरकर 81.26 पर बंद हुआ

निराशाजनक व्यापार आंकड़ों और विदेशी फंड की निकासी से रुपया बुधवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 35 पैसे की गिरावट के साथ 81.26 पर बंद हुआ।विदेशी मुद्रा व्यापारियों ने कहा कि वैश्विक बाजारों में जोखिम से बचने का नकारात्मक पूर्वाग्रह स्थानीय इकाई पर तौला गया।इंटरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में, स्थानीय इकाई 81.41 पर खुली और बाद में सत्र के दौरान 81.23 के उच्च स्तर और 81.58 के निचले स्तर पर रही।

घरेलू इकाई अंत में अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 81.26 पर बंद हुई, जो पिछले बंद के मुकाबले 35 पैसे की गिरावट दर्ज की गई।मंगलवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 37 पैसे की मजबूती के साथ 80.91 पर बंद हुआ।बीएनपी पारिबा द्वारा शेयरखान में अनुसंधान विश्लेषक अनुज चौधरी ने कहा, "वैश्विक बाजारों में जोखिम से बचने और कमजोर एशियाई मुद्राओं के कारण भारतीय रुपये में गिरावट आई है। एफआईआई के बहिर्वाह से निराशाजनक वृहद आर्थिक आंकड़ों का भी रुपये पर असर पड़ा है।"

रुपया 36 पैसे की गिरावट के साथ 82.87 प्रति डॉलर पर

बाजार सूत्रों ने कहा कि अमेरिकी फेडरल रिजर्व के ब्याज दर के संदर्भ में फैसला आने से पहले जोखिम से बचने की धारणा से रुपया प्रभावित हुआ।

undefined

अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 82.63 के स्तर पर नीचे खुला और कारोबार के अंत में यह 36 पैसे की गिरावट के साथ 82.87 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान रुपये ने 82.60 के उच्चस्तर और 82.87 के निचले स्तर को छुआ।

इससे पिछले कारोबारी सत्र में रुपया 82.51 प्रति डॉलर के भाव पर बंद हुआ था।

इस बीच, दुनिया की छह प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर की मजबूती को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.15 प्रतिशत घटकर 104.98 रह गया।

विदेशी मुद्रा पैसे पश्चिम बंगाल

मुंबई: निराशाजनक व्यापार आंकड़ों तथा विदेशी कोषों की निकासी के कारण अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में बुधवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 34 पैसे की गिरावट के साथ 81.25 (अस्थायी) प्रति डॉलर पर बंद हुआ।

बाजार सूत्रों ने कहा कि वैश्विक बाजारों में जोखिम लेने की धारणा कमजोर होने से रुपया प्रभावित हुआ।

अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 81.41 पर खुला। विदेशी मुद्रा पैसे पश्चिम बंगाल कारोबार के दौरान रुपया 81.23 के दिन के उच्चस्तर और 81.58 के निचले स्तर को छूने के बाद अंत में अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 34 पैसे की गिरावट के साथ 81.25 प्रति डॉलर पर बंद हुआ। यह पिछले कारोबारी सत्र में 37 पैसों की तेजी के साथ 80.91 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था।

शेयरखान बाय बीएनपी पारिबा में अनुसंधान विश्लेषक अनुज चौधरी ने कहा, ‘‘वैश्विक बाजारों में जोखिम से बचने और कमजोर एशियाई मुद्राओं के कारण भारतीय रुपये में गिरावट आई है। एफआईआई की निकासी से भी रुपया प्रभावित हुआ।’’

विदेशी मुद्रा पैसे पश्चिम बंगाल

मुंबई, : विदेशी बाजारों में अमेरिकी डॉलर की मबजूती और विदेशी पूंजी की निकासी जारी रहने के बीच रुपया बुधवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 14 पैसे टूटकर 81.81 पर आ गया।

अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया डॉलर के मुकाबले 81.81 पर खुला, जो पिछले बंद भाव के मुकाबले 14 पैसे की गिरावट दर्शाता है।

रुपया मंगलवार को अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 12 पैसे की तेजी के साथ 81.67 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था।

इसबीच छह विदेशी मुद्रा पैसे पश्चिम बंगाल प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.06 प्रतिशत की गिरावट के साथ 107.16 पर पहुंच गया।

वैश्विक तेल सूचकांक ब्रेंट क्रूड वायदा 0.08 प्रतिशत गिरकर 88.29 डॉलर प्रति बैरल के भाव पर था।

रेटिंग: 4.32
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 707