नई दिल्ली । इफको (IFFCO) और इंडियन पोटाश लिमिटेड (IPL) और इसके निदेशकों के खिलाफ (Against its Directors) चल रही जांच में, प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने व्यवसायी (Businessman) संजय जैन (Sanjay Jain) को पीएमएलए मामले में (In PMLA Case) गिरफ्तार किया (Arrested) । जैन को विशेष पीएमएलए कोर्ट में पेश किया गया, जिसने उन्हें ईडी की हिरासत में भेज दिया।

बिल्डर पर फ्लैट खरीदारों से ठगी का मामला दर्ज

चंदन नगर सीबीएम ग्रुप के साथ ट्रेडिंग पुलिस स्टेशन, पुणे ने सुप्रीम होल्डिंग्स एंड हॉस्पिटैलिटी (इंडिया) लिमिटेड के विदीप जातिया के खिलाफ कल्याणी नगर पुणे में अपनी आवासीय प्रोजेक्ट बेलमैक रेजिडेंस में एक फ्लैट को कई खरीदारों को बेचकर फ्लैट खरीदारों को कथित रूप से धोखा देने और लुभाने के लिए प्राथमिकी दर्ज की। सुप्रीम होल्डिंग्स एंड हॉस्पिटैलिटी (इंडिया) लिमिटेड एक सार्वजनिक सूचीबद्ध कंपनी है और विनोद जातिया समूह (मुंबई) का हिस्सा है।

प्राथमिकी के अनुसार, चंदननगर पुलिस स्टेशन को पुणे निवासी श्री मनीष महादेव माली से शिकायत मिली थी। श्री मनीष ने बताया कि 2016 में उन्होंने फ्लैट नं. 702 बेलमैक रेजिडेंस, कल्याणी नगर पुणे की स्कीम D बुक करवाया था और उसके लिए उन्होंने 1,11,54,014 रुपये की राशि का भुगतान किया था। यह प्रोजेक्ट शुरात से ही भूमि का शीर्षक स्पष्ट नहीं होने के कारण और अन्य मुद्दों के कारण विवादों में रहा हा। जिन फ्लैट खरीदारों ने बिल्डर को उनकी मेहनत की कमाई का भुगतान किया था, उन्हें संपत्ति पर लंबित मुकदमों के बारे में सूचित नहीं किया गया था। परियोजना के पूरा होने में काफी देरी के बाद, फ्लैट खरीदारों को पता चला कि एक फ्लैट कई खरीदारों को बेचा गया था, जब यह बात सामने आई तो श्री मनीष ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराने का फैसला किया।

सुप्रीम होल्डिंग्स एंड हॉस्पिटैलिटी (इंडिया) लिमिटेड के शेयर सूचकांकों पर निचले सर्किट पर बंद थे। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि वर्ष की शुरुआत में शेयर लगभग 12.05 रुपये के आसपास रहा था और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर यह 165.07 रुपये के उच्च स्तर पर पोहोंचा था।

हाल ही में सीबीआई ने जालसाजी और इंडियन ओवरसीज बैंक के साथ 73 करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी के एक मामले में मुंबई में विनोद जातिया ग्रुप के परिसरों पर भी छापा मारा था। सीबीआई ने सर्कुलर ट्रेडिंग, फर्जी बिलिंग और रियल एस्टेट में फंड के डायवर्जन से संबंधित कई आपत्तिजनक दस्तावेज पाए हैं।

सीएम जयराम बोले: बीजेपी नहीं करती हॉर्स ट्रेडिंग, अपने दम पर बनाएंगे सरकार

कहा कांग्रेस के नेता सीएम की कुर्सी के लिए लगा रहे दिल्ली की दौड़

सीएम जयराम बोले: बीजेपी नहीं करती हॉर्स ट्रेडिंग, अपने दम पर बनाएंगे सरकार

Update: Saturday, November 26, 2022 @ 10:47 PM

शिमला। दिल्ली से लौटे सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला है। हॉर्स ट्रेडिंग (Horse Trading) पर उन्होंने कहा कि बीजेपी (BJP) हॉर्स ट्रैडिंग नहीं करती। जयराम ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस को अपनों से ही खतरा है। इसलिए वह हॉर्स ट्रेडिंग की बात कर रही है। उन्होंने दावा किया कि हिमाचल में बीजेपी अपने बूते हिमाचल में सीबीएम ग्रुप के साथ ट्रेडिंग सरकार बनाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार बनाने के लिए बागियों की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। कांग्रेस (Congress) के हिमाचल में जीत के दावे पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस में कई लोग अपने आपको सीएम का दावेदार बता रहे हैं, लेकिन जो ये दावे कर रहे हैं उनकी अपनी सीट ही खतरे में हैं।

यह भी पढ़ें:सुरेश कश्यप बोले: बीजेपी जल्द अपने प्रत्याशियों से लेगी फीडबैक, बुलाई जाएगी बैठक

जयराम ठाकुर ने कहा है कि कांग्रेस के कई नेताओं को यही मालूम नहीं है कि वह खुद जीत भी रहे हैं या नहीं। बावजूद इसके सभी नेता सीएम की कुर्सी का सपना लिये दिल्ली (Delhi) की दौड़ लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सीबीएम ग्रुप के साथ ट्रेडिंग में एक बार फिर बीजेपी की ही सरकार बनेगी। कांग्रेस नेता झूठ के सपने सीबीएम ग्रुप के साथ ट्रेडिंग देख रहे हैं। इस बार कांग्रेस के कई दिग्गज अपनी कुर्सी भी नहीं बचा पाएंगे।

बिहार विधानसभा में विश्वासमत से पहले सीबीआई की छापेमारी से सियासी गलियारे में हड़कंप

पटना। बिहार विधानसभा में आज यानि बुधवार को नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव की नई सरकार को विश्ववासमत साबित करना है, लेकिन उससे पहले ही सियासी गलियारे में हड़कंप सीबीएम ग्रुप के साथ ट्रेडिंग मच गया। सत्ताधारी के एमएलसी सह कोषाध्यक्ष और बिस्कोमान चेयरमैन सुनील सिंह के ठिकानों पर सीबीआई ने सुबह-सुबह छापेमारी शुरू कर दी। लेकिन इससे भी बड़ी खबर आगे है और वो ये कि सीबीआई के शिकंजे में आरजेडी के ही राज्यसभा सांसद अशफाक करीम भी आते दिख रहे हैं। क्योंकि सुनील सिंह के साथ पटना में अशफाक करीम के ठिकानों पर भी सीबीआई ने छापा मारा है।

मुझे फंसाया जा रहा- सुनील सिंह
सीबीआई की इस बड़ी छापेमारी के बाद बिहार के सियासी गलियारे में हड़कंप मच गया है। इधर आरजेडी एमएलसी और बिस्कोमान चेयरमैन सुनील सिंह ने कहा है कि उन्हें फंसाया जा रहा है। सुनील सिंह ने मीडिया से कहा कि श्आज का ही दिन छापेमारी के लिए क्यों चुना गया है? मुझे जानबूझकर परेशान किया जा रहा है और केंद्र सरकार के इशारे पर ये सब हो रहा है।

आरजेडी सांसद अशफाक करीम के ठिकाने पर भी रेड
वहीं आरजेडी के राज्यसभा सांसद अशफाक करीम के ठिकानों पर भी सीबीआई ने बुधवार की सुबह-सुबह ही रेड मारी। इस छापेमारी के दौरान पटना में सुनील सिंह और अशफाक करीम के ठिकानों पर सीबीआई की टीम ने दबिश दी। सूत्रों का कहना है कि सीबीआई की कई टीमें इस छापेमारी में लगी हैं और कुछ टीमों को बैकअप में भी रखा गया है। वहीं ईडी की टीम भी छापेमारी कर रही है।

मधुबनी में आरजेडी सांसद सीबीएम ग्रुप के साथ ट्रेडिंग के घर ईडी की रेड
यही नहीं, आरजेडी के एक और कद्दावर नेता पर ईडी ने बुधवार को ही शिकंजा कस दिया। लालू यादव की पार्टी के राज्य सभा सांसद डॉ फैयाज अहमद के आवास पर ईडी ने सुबह-सुबह दबिश दी। ये छापा उनके मधुबनी आवास पर मारा गया। इस दौरान सीआरपीएफ के अफसरों के साथ जवानों की एक टीम भी ईडी की मदद के लिए वहां मौजूद थी।

सीबीआई की इस छापेमारी के बाद जबरदस्त सियासी हड़कंप मच गया है। इसी बीच त्श्रक् को समर्थन दे रहे निर्दलीय एमएलसी समेत कई नेता सुनील सिंह के आवास के बाहर पहुंच गए। आरजेडी नेताओं का आरोप है कि उन्हें पहले ही शक था कि सीबीआई और ईडी ऐसा कर सकती है, क्योंकि आज ही नीतीश-तेजस्वी सरकार का फ्लोर टेस्ट भी है। सत्ता पक्ष का आरोप है कि सदन में नेताओं को पहुंचने से रोकने के लिए ये छापेमारी की है।

व्यवसायी संजय जैन को पीएमएलए मामले में ईडी ने किया गिरफ्तार


नई दिल्ली । इफको (IFFCO) और इंडियन पोटाश लिमिटेड (IPL) और सीबीएम ग्रुप के साथ ट्रेडिंग इसके निदेशकों के खिलाफ (Against its Directors) चल रही जांच में, प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने व्यवसायी (Businessman) संजय जैन (Sanjay Jain) को पीएमएलए मामले में (In PMLA Case) सीबीएम ग्रुप के साथ ट्रेडिंग गिरफ्तार किया (Arrested) । जैन को विशेष पीएमएलए कोर्ट में पेश किया गया, जिसने उन्हें ईडी की हिरासत में भेज दिया।

यह भी पढ़ें | पंजाब में जासूस गिरफ्तार, ISI भेजता था वीडियो-फोटो, पुलिस ने चंडीगढ़ से दबोचा

ईडी को जांच में यह भी पता चला है कि संजय जैन ने भारत में अवैध तरीके से 37.12 करोड़ रुपये और 6.18 मिलियन अमेरिकी डॉलर की राशि प्राप्त की। इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय ने जैन के बिजनेस पार्टनर ए.डी. सिंह और आलोक कुमार अग्रवाल को गिरफ्तार किया था, जिनके साथ उसके व्यापारिक संबंध थे। सिंह को दुबई से भी अवैध तरीके से 27.79 करोड़ रुपये मिले थे। जैन और सिंह दोनों ने भारत में अपराध की आय प्राप्त करने के लिए अग्रवाल द्वारा प्रदान किए सीबीएम ग्रुप के साथ ट्रेडिंग गए वाहन का उपयोग किया। ईडी ने 2021 में छह आरोपियों के खिलाफ एक विशेष अदालत के समक्ष अभियोजन शिकायत भी दायर की थी।

ईडी ने विभिन्न संदिग्धों के खिलाफ सीबीआई की एफआईआर के आधार पर मनी लॉन्ड्रिंग जांच शुरू की, जिसमें उदय शंकर अवस्थी, इफको के एमडी पंकज जैन, रेयर अर्थ ग्रुप और ज्योति ट्रेडिंग कॉरपोरेशन के प्रमोटर अमरेंद्र धारी सिंह और अन्य शामिल हैं। सीबीआई ने उन पर आपराधिक सीबीएम ग्रुप के साथ ट्रेडिंग साजिश रचने, धोखाधड़ी और आपराधिक दुराचार का आरोप लगाया है।

ईडी को जांच में पता चला कि अवस्थी और इफको के अन्य लोगों ने गलत तरीके से पैसे कमाए और इसे विभिन्न असंबंधित संस्थाओं के माध्यम से खुद की संस्थाओं में ट्रांसफर कर दिया। आरोपों में विदेशी आपूर्तिकर्ताओं से भारत के बाहर पंजीकृत कई संस्थाओं (आरोपी व्यक्तियों द्वारा नियंत्रित) से धोखाधड़ी वाले लेनदेन को छिपाने के लिए अवैध कमीशन प्राप्त करना शामिल है।

ईडी ने कहा, अवस्थी (अमोल अवस्थी और अनुपम अवस्थी के पिता) और परविंदर सिंह गहलोत (विवेक गहलोत के पिता) इफको के प्रबंध निदेशक और आईपीएल के निदेशक यू.एस. अवस्थी और आईपीएल के प्रबंध निदेशक परविंदर सिंह गहलोत फर्टिलाइजर इंडस्ट्री में काफी प्रभाव रखते हैं। आरोप है कि भुगतान के जरिए बड़ी धोखाधड़ी को अंजाम दिया गया।

रेटिंग: 4.95
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 706